भारत रूरल लाइवलीहुड्स फाउंडेशन (बीआरएलएफ) की स्थापना भारत सरकार द्वारा एक स्वतंत्र संस्था के रूप में ग्रामीण विकास मंत्रालय के अधीन की गयी थी, जिसका मुख्य उद्देश्य केंद्र व राज्य सरकारों के साथ भागीदारी करते हुए मध्य भारत के आदिवासी क्षेत्रों में आजीविका सृजन करना है।

भारत सरकार द्वारा जारी दिशानिर्देशनों का पालन करते हुए भारत रूरल लाइवलीहुड्स फाउंडेशन (बीआरएलएफ) ने 14 से 28 सितंबर 2021 तक हिंदी पखवाड़े का आयोजन किया। जिसमें राजभाषा हिंदी के प्रोत्साहन के लिए विभिन्न प्रतियोगिताएं जैसे कविता पाठ, निबंध लेखन, प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता तथा मुहावरे की अंत्याक्षरी आयोजित की गई। सभी प्रतियोगिताओं में बीआरएलएफ के सभी कर्मचारियों ने बड़े उत्साह के साथ भाग लिया।

दिनांक 30.09.2021 को हिंदी पखवाड़ा समापन एवं पुरस्कार वितरण समारोह मनाया गया। जिसमें मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री प्रमथेश अंबष्ट द्वारा सभी प्रतियोगिताओं के प्रतिभागियों को हिंदी-भाषी व अन्य-भाषी श्रेणी में प्रथण, द्वितीय व तृतीय पुरस्कार से पुरस्कृत किया गया। तत्पश्चात श्री प्रमथेश अंबष्ट ने सभी अधिकारियों व कर्मचारियों को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि हमें राजभाषा का सम्मान करते हुए इसे कार्यालय दैनिक कार्यों में भी अधिक से अधिक उपयोग करना चाहिए तथा ज्यादातर पत्राचार में हिंदी का उपयोग करना चाहिए। उन्होने इस बात पर बल देते हुए कहा कि आजकल हिंदी के टंकण में गूगल इनपुट आने के कारण हिंदी टंकण सरल हो गया है। जिससे प्रत्येक व्यक्ति सरलता से हिंदी टंकण कर सकता है। ऐसा करके हम अपने कार्य में सरलता लाने के साथ-साथ राष्ट्र के गौरव की भाषा हिंदी का प्रोत्साहन करेंगे।

हिंदी पखवाड़ा समापन समारोह के अंत में प्रशासनिक एवं मानव संसाधन अधिकारी श्रीमती प्रतिभा असवाल ने हिंदी प्रतियोगिताओं में भाग लेने वाले सभी कर्मचारियों/अधिकारियों का धन्यवाद प्रस्तुत किया।